अस्पताल की लापरवाही बिना बॉडी कवर के भेजा संक्रमित का शव।

बिना बॉडी कवर के

ग्वालियर। कोरोना संक्रमितों की मौत के बाद उनके शव को बिना बॉडी कवर के ही शव गृह भेजा जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन यह लापरवाही कहीं पूरे मुक्तिधाम गृह के कर्मचारियों को संक्रमित न कर दे। बीते रोज शिवपुरी निवासी कमलाबाई की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

मंगलवार को जब अस्पताल से कमलाबाई का शव लक्ष्मीगंज स्थित विद्युत शव गृह भेजा गया तो शव एक चादर में लिपटा हुआ था। यह देख मौके पर उपायुक्त अतिबल सिंह यादव ने कर्मचरियों से पूछा कि शव बिना पीपीई किट के कैसे लेकर आए। जिस पर अस्पताल की ओर से आए कर्मचारी जवाब नहीं दे पाए।

बिना बॉडी कवर के

यह भी पढ़ें :-

जिसके बाद उपायुक्त श्री यादव ने उन्हीं कर्मचारियों से विद्युत शव गृह में अंतिम संस्कार करवाया। इस दौरान जेएएच कर्मियों में कोरोना संक्रमण का भय साफतौर पर देखने को मिला। विद्युत शवदाह गृह के नोडल अधिकारी रामबाबू दिनकर ने स्पष्ट कह दिया कि कोविड नियमों के तहत बॉडी कवर में शव पूरी तरह बंद होना चाहिए।

अगर फटी हुई बॉडी कवर में कोविड से मरने वाले की लाश अंतिम संस्कार के लिए आएगी तो वह वापस लौटा देंगे।