Press "Enter" to skip to content

केंद्र सरकार ने दी मॉडर्ना को Emergency मे उपयोग करने की अनुमती

मंगलवार को सिप्ला कंपनी को, भारत के ड्रग रेगुलेटर, ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने मॉडर्ना (Moderna) की वैक्सीन भारत के बाहर से आयात की अनुमति दे दी है, साथ ही इसके साथ मॉडर्ना को इमरजेंसी उपयोग के लिए अप्रूवल मिल गया है। हम बता दे की इस वज़ह से मॉडर्ना अपने मे ऐसी पहली वैक्सीन है जिसका उत्पादन भारत से बाहर होगा अर्थात यह पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन होगी जिसे बाहर से लाकर भारतीय को दिया जाएगा लकिन इसे भारत की ब्रिज ट्रायल को पूरा करना ही होगा जिसके हिसाब से 100 लोगों पे ट्रायल किया जाएगा।

ड्रोन हमले के बाद ग्वालियर अलर्ट, Drone का प्रयोग पर फिल्हाल लगाया गया रोक

भारत की जगह अब UAE मे होगा T20 वर्ल्ड कप

इस से पहले किसी भी अन्तर्राष्ट्रीय वैक्सीन को भारत मे उपयोग करने से पहले कम से कम 1500 लोगों पे ट्रायल अनिवार्य होता है लकिन केंद्र सरकार ने परिस्थिति को देखते हुए 15 अप्रैल को ही इसे 1500 से घटाकर 100 लोगों पर कर दिया था । अब कहा जा रहा है यह ट्रायल Cipla की तरफ से किया जाएगा ।

 

देश मे फिर से हो सकती है वैक्सीन की कमी, केंद्र सरकार ने लिया यू-टर्न 

 

मॉडर्ना ने इस से पहले इन्डेम्निटी की माँग करी थी जिसका यह मतलब होता है कि अगर किसी कारण वश वैक्सीन मे कुछ गडबड हुए और किसी को कुछ हो गया तो इसका जिम्मेदारी मॉडर्ना की नही होगी , हालाकि यह साफ़ नहीं हो पाया है अब तक की मॉडर्ना को सरकार ने इन्डेम्निटी दी है की नहीं यह देखने वाली बात होगी।

मॉडर्ना की तरफ से Single dose vaccine की भी शुरुआत करने की पेशकश की गयी है कहा जा रहा है कि इस से भारत मे vaccination मे तेजी आएगी क्युकि अब तक जो वैक्सीन उपलब्ध दे उसमे डबल डोज की जरूरत होती है ।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.