Press "Enter" to skip to content

बाढ़ से प्रदेश में हालत बेकाबू, बुलानी पड़ी सेना, सीएम ने कहा – संकट बहुत बड़ा है

 

 

ग्वालियर न्यूज, ग्वालियर डायरीज: प्रदेश में हो रही लगातार बारिश के कारण नदियों में पानी कुछ इस तरह बढ़ गया की कई जगह बाढ़ आ गई। बारिश ना रुकने की वजह से हालत और भी खराब होने का अंदेशा जताया जा रहा है।

मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने बताया की शिवपुरी में 2 हजार से अधिक लोग बाढ़ के कारण फसे है। पूरे प्रदेश का बाढ़ के केंद्र शिवपुरी ही है, सबसे ज्यादा नुकसान इसे ही हुआ है। साथ ही उन्होंने बचाओ और राहत कार्य पर कहा है की बुधवार (4 अगस्त) के दिन से सेना बचाओ कार्य में जुट जायेगी, तथा उन्होंने सीएम शिवराज सिंह और केंद्र मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से बाढ़ पर बात की है। जिस पर सीएम शिवराज सिंह की तरह से कहा गया है की “यह संकट बहुत बड़ा है”।

 

यह भी पढ़े   बिना बिजली के 400 यात्रियों को लेके रास्ते में खड़ी है ट्रेन, रेलवे ट्रैक डूबा पानी में

बात करें ग्वालियर चंबल अंचल की तो यहां पर 2500 से भी अधिक लोग प्रशासन से मदद की उम्मीद लगाए बैठे है । पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश का असर ऐसा हुआ की सारे बांध पानी से पूरी तरह भर गया, जिसके कारण बांध का टूटने का खतरा पैदा हो गया।

बांध को टूटने से बचाने के लिए तुरंत ही पानी हो बांध से छोड़ा गया , छोड़े गए पानी के वजह से नदियों का जल स्तर बढ़ा और शिवपुरी, श्योपुर, दतिया और ग्वालियर जिले में बाढ़ आ गई।

 

सिर्फ शिवपुरी के दो विधानसभा क्षेत्र करैरा, पोहरी विधान सभा से आ रही खबरों के अनुसार वहा के 100 से अधिक गांव बाढ़ में डूब चुके है । इसके अलावा सिंध, पार्वती, कूनो, नोन नदियों के समीप जितने भी गांव है सब का बाढ़ के पानी में डूबने का भय है, कई तो डूब भी चुके है।

 

वायुसेना अपनी तरह से बचाओ अभियान में जुटी है, लेकिन मौसम ठीक नही होने के कारण बचाओ कार्य उस स्पीड से भी नही हो पा रहा है।

 

कहा पर कितने बारिश हुई?

शिवपुरी में 470 MM, गुना में 270 MM, श्योपुर में 215 MM, अशोक नगर में 180 MM, मुरैना में 80 MM, ग्वालियर मे 72 MM बारिश हुई है।

 

More from ग्वालियर न्यूजMore posts in ग्वालियर न्यूज »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.