कोरोना की बढ़ती संख्या इलाज़ पैकेज को कर रही आधा, हुआ 80 हज़ार;

बढ़ती संख्या इलाज़ पैकेज

ग्वालियर। जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के साथ मरीजों की बढ़ती संख्या इलाज़ पैकेज को कर रही आधा ,साथ ही सरकारी अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या रोजाना बढ़ रही है।

लेकिन मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल को छोड़कर अन्य अस्पतालों में इलाज संबंधी जरूरी सुविधाओं की कमी के साथ अव्यवस्था के साथ देखरेख में कमी के कारण कोविड-19 मरीजों की परेशानी बढ़ी है।

यदि समय रहते कोरोना की चेन नहीं छोड़ी तो जल्द ही शहर में भी कोरोना संक्रमण को लेकर हालत विकराल होते दिखेंगे। ग्वालियर शहर में कोरोना पॉजीटिव मरीजों का आंकड़ा सत्रह सौ के पार पहुंच चुका है।

ऐसे में कोरोना संक्रमण से पीड़ित गंभीर मरीजों के लिए केवल जेएएच स्थित मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में ही इलाज संबंधी सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं बल्कि अन्य सरकारी अस्पतालों में वेंटिलेटर तो दूर की बात सेंट्रल ऑक्सीजन सिस्टम तक नहीं है। ऐसे में मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल मरीजों से ओवरलोड हो चुका है।

एमएसएच पर बढ़ रहा है बोझ ;

बढ़ती संख्या इलाज़ पैकेज

यह भी पढ़ें :-

ग्वालियर जिले के अलावा मल्टी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के साथ अन्य सरकारी अस्पतालों में अंचल के मरीजों को बोझ भी है।

अंचल में शिवपुरी एवं दतिया में मेडिकल कॉलेज होने के बाद भी कोरोना मरीजों की गंभीर स्थिति होने पर उन्हें इलाज के लिए जयारोग्य अस्पताल के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में इलाज के लिए भेजा जा रहा है यही नहीं इस डेडिकेटेड कोविड-19 अस्पताल में मुरैना, भिण्ड, श्योपुर व गुना तक से गंभीर हालत के मरीजों को भर्ती किया जा रहा है।