Press "Enter" to skip to content

PM Modi आज जायेंगे Kedarnath, जानिए 2013 की त्रासदी के बाद कितना बदला?

देश, ग्वालियर डायरीज: काशी विश्वनाथ से लेकर श्री केदारनाथ तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भक्ति और आस्था किसी से छिपी नहीं है। वे शुक्रवार को एक बार फिर उत्तराखंड के श्री केदारनाथ धाम में होंगे। भगवान शिव में पीएम मोदी की आस्था काशी से केदारनाथ तक शिव धामों के कायाकल्प में भी दिखाई देती है। करीब 8 साल पहले केदारनाथ में एक भयानक त्रासदी हुई थी जिसने धाम की तस्वीर को पूरी तरह से बदल कर रख दिया था।

भयानक त्रासदी की तस्वीर
भयानक त्रासदी की तस्वीर

बिना सुई वाली COVID-19 वैक्सीन जल्द ही बाजार आने वाली है, जानें कि यह कैसे काम करता है

 दुर्गम पहाड़, प्रतिकूल भौगोलिक परिस्थितियां, कठिन मौसम – लोगों ने सोचा था कि उत्तराखंड के केदारनाथ धाम में पुराना वैभव नहीं लौट पाएगा, लेकिन भगवान शिव की भक्ति ने सपना सच कर दिया। साल 2013 की त्रासदी के बाद केदारनाथ धाम पूरी तरह से बदल गया है। अब केदारनाथ मंदिर, भक्तों और वहां रहने वाले सैनिकों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

भारत में 2021 का आखिरी ‘Chandra Grahan’ कब है? देखे तिथि, समय

 गोवर्धन पूजा के दिन शुक्रवार को पीएम मोदी केदारनाथ धाम में होंगे, श्री केदारनाथ धाम में उनकी अपार श्रद्धा और आस्था है। वह प्रधानमंत्री बनने से पहले केदारनाथ धाम के दर्शन करते रहे हैं। पीएम बनने के बाद अपने पहले कार्यकाल में उन्होंने छह बार केदारनाथ धाम का दौरा किया। इस बार भी दिवाली के ठीक एक दिन बाद प्रधानमंत्री केदारनाथ धाम में होंगे। इस दौरान केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण के पहले चरण के विकास कार्यों का उद्घाटन किया जाएगा।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराखंड दौरे से पहले गुरुवार शाम को केदारनाथ मंदिर रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगा उठा। गुरुवार शाम को केदारनाथ मंदिर में ‘आरती’ भी की गई।

1100 वर्ष पुरानी, तीन बार रूप बदलने वाली माता Mahalaxmi की मंदिर, मुगल सम्राट की क्रुरूता झेल चुकी है यह मंदिर

 पीएम मोदी जिन परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे उनमें आदि शंकराचार्य की समाधि भी शामिल है, वर्ष 2013 की त्रासदी में यह समाधि नष्ट हो गई थी। पुनर्निर्माण के बाद आदि शंकराचार्य की समाधि भव्य होगी। प्रधानमंत्री खुद इस परियोजना की समीक्षा कर रहे हैं। इसके अलावा वह सरस्वती रिटेनिंग वॉल आस्था पथ और घाट और मंदाकिनी रिटेनिंग वॉल आस्थापथ का भी उद्घाटन करेंगे. वह तीर्थ पुरोहित घरों और मंदाकिनी नदी पर बने गरुड़ चट्टी पुल का भी उद्घाटन करेंगे।

छेड़ने आए बदमाशो को महिला ने सिखाया सबक, बाइक छोड़ के भागे बदमाश

Dipawali 2021: Kedarnath Dham
Dipawali 2021: Kedarnath Dham

 इसके अलावा पीएम मोदी 180 करोड़ रुपये से अधिक की कुल लागत वाली कई परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे. इन परियोजनाओं में संगम घाट का पुनर्विकास, प्राथमिक चिकित्सा और पर्यटक सुविधा केंद्र, प्रशासनिक कार्यालय और अस्पताल, दो अतिथि गृह, पुलिस स्टेशन, कमान और नियंत्रण केंद्र, मंदाकिनी आस्थापथ कतार प्रबंधन और वर्षा आश्रय और सरस्वती नागरिक सुविधा भवन शामिल हैं। प्रधानमंत्री 5 नवंबर को जिन परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे, उनकी आधारशिला भी प्रधानमंत्री ने रखी।

More from LifeMore posts in Life »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.