ग्वालियर: सड़कों के सुधार कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए।

संभागीय आयुक्त श्री ओझा ने शहर भर दूसरे पार्क घर कुंदी प्रवेश विकास के कार्यों की समीक्षा की

सड़कों के सुधार कार्य

ग्वालियर। शहरी क्षेत्र में बरसात को देखते हुए सड़कों के सुधार का कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए। नगर निगम सीमा क्षेत्र में अमृत परियोजना के तहत सीवर एवं पानी की लाईन जिन सड़कों पर डाली गई है,उन सड़कों को ठीक करने का कार्य भी तत्परता से किया जाए।

लाइन डालने के बाद सड़क को जैसी संभागीय आयुक्त थी वैसी ही स्थिति में पुनः बनाया जाए ताकि लोगों को आने-जाने में किसी प्रकार की विकास के कार्यों परेशानी न हो। संभागीय आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक एम बी ओझा ने नगर निगम के विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए हैं। नगर निगम सीमा क्षेत्र मे किए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक मोतीमहल के मानसभागार में आयोजित हुई।

सड़कों के सुधार कार्य

बैठक में ये हुआ:

बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री संदीप माकिनए अपर आयुक्त आर के श्रीवास्तव, अधीक्षण यंत्री आर एल एस मौर्य, अधीक्षण यंत्री जनकार्य प्रदीप चतुर्वेदी, कार्यपालन यंत्री जनकार्य प्रेम पचौरी, संभागीय समन्वयक विशाल प्रताप सिंह सहित निर्माण विभाग से जुड़े अधिकारी एवं निगम के जोनल अधिकारी उपस्थित थे। संभागीय आयुक्त श्री ओझा ने बैठक में स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि बरसात से पूर्व शहर में पानी एवं सीवर की लाईन बिछाने के लिये खोदी गई सड़कों को यथास्थिति बनाने का कार्य तत्परता से किया जाए।

अमृत परियोजना की निर्माण एजेन्सियां सड़क सुधार के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से करें। परियोजना से जुड़े अधिकारी सड़कों के सुधार के कार्य की मॉनीटरिंग कर कार्य तत्परता से पूर्ण कराएं।

ये भी पढ़ें :-

संभागीय आयुक्त श्री ओझा ने दिए निर्देश:

उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि शहर विकास के लिये जो कार्य स्वीकृत हैं उन्हें तत्परता से पूर्ण करने की कार्रवाई की जाए। संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने बैठक में कहा कि शहर विकास के ऐसे कार्य जिनमें टेंडर की प्रक्रिया पूर्ण हो गई है उनमें कार्य आदेश जारी कर ठेकेदारों के माध्यम से कार्य तत्परता से प्रारंभ कराए जाएं।

पानी की टंकियों का निर्माण कार्य भी तेजी के साथ हो। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि अमृत परियोजना के तहत सीवर एवं वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का जो कार्य किया जा रहा है उसमें भी गति लाएं। निर्धारित समय.सीमा में ट्रीटमेंट प्लांटों का कार्य पूर्ण हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए।

नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन ने बैठक में अमृत परियोजना के साथ-साथ अन्य विकास कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी । उन्होंने अमृत परियोजना से जुड़ी निर्माण एजेन्सियों को भी कहा कि सड़क सुधार के कार्य के लिये जो समय.सीमा निर्धारित की गई है, उसका पालन करते हुए सड़कों के सुधार का कार्य किया जाए।

उन्होंने बैठक में आश्वस्त किया कि अमृत परियोजना के तहत जिन सड़कों में सुधार कार्य किया जाना है उनमें सुधार का कार्य तेजी के साथ किया जायेगा।