Press "Enter" to skip to content

WhatsApp ने अपने बदले हुए Privacy Policy पर रोक लगाई

क्या आप व्हाट्सएप का उपयोग मैसेजिंग या कॉल के लिए करते है, अगर आप भी एक व्हाट्सएप यूजर है तो आपको पता ही होगा की कुछ महीने पहले व्हाट्सएप ने अपने प्रवासी पॉलिसी में कुछ बड़े बदलाव किए थे जिससे यूजर का प्राइवेट डाटा पर साफ साफ दूसरे ऐप से मार्केटिंग के लिए यूज किया जा सकता हैं। ऐसे में किसी बात की प्राइवेसी रही ही नही। हम आपकों यह बता दे की व्हाट्सएप end-to-end encryption का प्रयोग करता है जिस से चैट और कॉल की डाटा थर्ड पार्टी के पास ना जा सके। व्हाट्सएप की नई प्राइवेट पॉलिसी के मदद से फेसबुक और इंस्टाग्राम आसानी से व्हाट्सएप की प्राइवेट चैट अपने बिजनेस एडवरटाइजमेंट के लिए उपयोग कर सकता हैं।

मिला ZIKA Virus का पहला केस

अगर आप व्हाट्सएप पर अपने मित्र से किसी वस्तु की बारे में वार्ता करते हैं तो आप कुछ समय पश्चात उस वस्तु की एडवरटाइजमेंट अपने फेसबुक वॉल पर जरूर पायेंगे। और यह किसी भी व्यक्ति का प्राइवेसी में बड़ी सेंध है।

कुछ लोगो ने तो यह भी दावा किया हैं की टेक जिएंट्स गूगल, फेसबुक, इंस्टाग्राम इत्यादि लोगो के फोन की माइक्रोफोन भी यूज करता है और उनकी बाते को रिकॉर्ड कर उस के आधार पर एडवर्टिसेमेट देता है, लेकिन टेक जिएंट्स ने इस आरोप से साफ इंकार कर दिया। लेकिन इंटरनेट पे बोहोत सारे लोग ऐसे है जो इस बात का दावा प्रूफ के साथ करते है। आप इंटरनेट पे बोहोत से ऐसे वीडियो पायेंगे जिसमे लोग फेसबुक खोल कर, अपने साथ बैठे हुए मित्र से किसी वस्तु की बाते करते है, आप यह बात जानकर चौक जायेंगे की वही वस्तु की एडवर्टिसेमेट उस व्यक्ति को ठीक दूसरे दिन उसके फेसबुक और इंस्टाग्राम पर मिली, क्या यह सिर्फ इतिफाक था, इसका निर्णय हम आप पर छोड़ते है। इस घटना पर एक डॉक्यूमेंट्री भी बनी है।

टीकाकरण पर फिलहाल के लिए ‘रोक’ लगाई गई!

कॉम्पिटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) ने पिछले महीने व्हाट्सएप और उसकी पैरेंट कंपनी फेसबुक दोनो को, नए प्राइवेसी पॉलिसी मामले में नोटिस जारी किया था, जिसके जवाब में फेसबुक और व्हाट्सएप ने दिल्ली हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल की थी जिसे हाईकोर्ट में यह कहते हुए रिजेक्ट कर दिया था की पहले से ही प्राइवेसी रिलेटेड मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है अर्थात् वो इसमें हस्थचेप नही कर सकते, जिसपर व्हाट्सएप ने नाराजगी प्रकट की थी। इसके जवाब में केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट यह कहा था की

 वॉट्सऐप यूजर्स पर रोज ऐसे नोटिफिकेशंस की बमबारी हो रही है कि वे पॉलिसी को अपनाने की मंजूरी दें।

अंतः व्हाट्सएप ने फिलहाल के लिए अपनी न्यू प्राइवेसी पॉलिसी पर रोक लगाई है।

 

 

 

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.